CCSU Exam TimeTable 2022: छात्रों को नहीं देने होंगे सभी विषय के पेपर

By | December 13, 2021

चौधरी चरण सिंह विवि की जुलाई में प्रस्तावित मुख्य और सेमेस्टर परीक्षाओं में छात्र-छात्राओं को सारे पेपर नहीं देने होंगे ।छात्रों को केवल एक कोड का ही पेपर देना होगा ।इसके लिए छात्रों से विकल्प पूछे जाएंगे। छात्र अपनी सुविधा के अनुसार केवल एक पेपर कोड में पेपर दे सकेगा ।एक पेपर से प्राप्त अंक बाकी सभी में माने जाएंगे। विवि में B.ed फाइनल के पेपर 2 सितंबर से हटाकर जुलाई में कराए जाएंगे।।

एक कोड का विकल्प B.Ed में भी मिल सकता है। इस बड़े बदलाव के लिए शुक्रवार को विवि में 3:00 बजे परीक्षा समिति की आपात बैठक बुलाई गई है। विवि के पेपर 2 जुलाई से शुरू होंगे परीक्षा अब शाम 6:00 बजे तक भी कराई जा सकती है। उच्च शिक्षा मंत्री और उपमुख्यमंत्री डॉक्टर दिनेश शर्मा की अध्यक्षता में हुई प्रदेश के समस्त विवि के कुलपति और रजिस्ट्रार की बैठक के बाद यह प्रस्ताव आया। डॉ दिनेश शर्मा ने विश्वविद्यालय को हर हाल में 10 अगस्त तक परीक्षाएं खत्म करने व 31 अगस्त तक रिजल्ट घोषित करने के निर्देश दिए ।।

चौधरी चरण सिंह विवि की मुख्य परीक्षाएं 2 जुलाई से शुरू होकर 29 अगस्त तक प्रस्तावित है। निर्देशों के बाद परीक्षाएं 29 अगस्त तक कराना संभव नहीं है। बैठक में ऐसी स्थिति में सारे पेपर कोड की परीक्षा कराने के बजाय केवल एक कोड का पेपर कराने का सुझाव दिया। विवि प्रशासन के अनुसार बीए में एक विषय में 3-3 कोड के पेपर होते हैं। बीएससी बीकॉम में दो- दो और तीन -तीन पेपर कोड का विकल्प है ।लेकिन 10 अगस्त की बाध्यता से अब छात्रों को सारे कोड के पेपर नहीं देने होंगे। विवि प्रशासन के अनुसार छात्रों को प्रत्येक विषय में केवल एक पेपर कोड की ही परीक्षा देनी होगी। विवि छात्रों से पेपर कोड का विकल्प पूछेगा। इसी आधार पर वह एक पेपर कोड की परीक्षा दे सकेंगे। विवि प्रशासन के अनुसार इस व्यवस्था से बीए में परीक्षा की अवधि एक तिहाई रह जाएगी।।

B.ed फाइनल के पेपर अभी जुलाई में ही 

मेरठ: शासन के निर्देशों के बाद विवि ने B.ed फाइनल के पेपर 1 सितंबर से कराने का फैसला टाल दिया है B.ed फाइनल के पेपर भी अब जुलाई में ही होंगे हालांकि B.Ed में केवल एक पेपर कोड का विकल्प मिलेगा या नहीं यह आज परीक्षा समिति में क्या होगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *